Himachal का नया राजा कोन ,3 नामों पर चर्चा, दिल्ली दरबार करेगा फेसला

Himachal का नया राजा कोन ,3 नामों पर चर्चा, दिल्ली दरबार करेगा फेसला

0 0
Read Time:6 Minute, 10 Second

Himachal Pradesh : चुनाव परिणाम आने से ठीक एक दिन पहले हाईकमान ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा को बतौर ऑब्जर्बर हिमाचल भेजा था, जबकि इससे पहले बतौर प्रभारी राजीव शुक्ला चुनाव के समय से कमान संभाले हुए थे।

शिमला: Himachal Pradesh का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा यह अब हाईकमान ही तय करेगा। शिमला में देर रात तक चली नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायक दल की बैठक में एक लाइन का प्रस्ताव दिल्ली भेजना का फैसला हुआ। प्रस्ताव में कहा गया है कि कांग्रेस केंद्रीय हाईकमान अब Himachal Pradesh के नए मुख्यमंत्री के नए नाम को तय करेगा। हालांकि इससे पहले दिन में कई घटना क्रम हुए औऱ बैठक का समय दो बार बदला गया। वहीं जब ऑबजर्वर शिमला पहुंचे तो प्रतिभा सिंह के समर्थकों ने उनको घेर लिया और जमकर नारेबाजी की। प्रतिभा सिंह के समर्थक उन्हें सीएम बनाने की मांग कर रहे थे।

कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद Himachal Pradesh के लिए पार्टी प्रभारी राजीव शुक्ला ने कहा कि एक पंक्ति का प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया और पार्टी के पर्यवेक्षक छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा शनिवार को पार्टी आलाकमान को अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे। कांग्रेस पार्टी के भीतर गुटबाजी का खंडन करते हुए, शुक्ला ने कहा कि विधायक दल के नेता के पद के लिए कोई नाम सामने नहीं आया और विधायकों ने सर्वसम्मति से फैसला लिया कि पार्टी नेतृत्व इस पर निर्णय करे।

बता दें कि Himachal Pradesh में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष एवं सांसद प्रतिभा सिंह, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू सीएम पद के सबसे बड़े दावेदार माने जा रहे है। मगर, इन तीनों पर सहमति बनने के शुरू से ही उम्मीद नहीं थी। इस तीनों पर विचार विमर्श के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री चेहरा चेहरा सभी को हैरान करने वाला भी हो सकता है।

मुख्यमंत्री की दौड़ में तीन चेहरे
कांग्रेस में मुख्यमंत्री की दौड़ में प्रतिभा सिंह, सुखविंदर सिंह सुक्खू और मुकेश अग्निहोत्री का नाम सबसे ऊपर है। सीएम कुर्सी की सबसे बड़ी दावेदार कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह को माना जा रहा है। वैसे तो प्रतिभा सिंह ने चुनाव नहीं लड़ा है और वो विधायक भी नहीं हैं, लेकिन उन्होंने राज्यभर में पार्टी के लिए व्यापक चुनाव प्रचार किया वो मंडी से सांसद हैं।

ठाकुर समुदाय के सुक्खू को उम्मीदें
पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहे सुखविंदर सिंह सुक्खू को इस बार प्रचार समिति का प्रमुख बनाया गया था। हालांकि उनके वीरभद्र से मतभेद थे और कहा जाता है कि प्रतिभा सिंह उनकी ताजपोशी का पुरजोर विरोध करेंगी। सुक्खू हमीरपुर जिले की नादौन सीट से चौथी बार विधायक बने। सुक्खू राज्य में प्रभावशाली ठाकुर समुदाय से हैं। सुक्खू पहले ही कह चुके हैं कि मुख्यमंत्री विधायकों मे से ही बनेगा।

मुकेश अग्निहोत्री को भी आस
मुकेश अग्निहोत्री पांच साल Himachal Pradesh में विधानसभा के नेता रहे। वो वीरभद्र सिंह में मंत्री रह चुके हैं और प्रतिभा सिंह के करीबी माने जाते हैं। अग्निहोत्री ने दावा किया कि विधायक दल के नेता के रूप में पिछले पांच साल मे उन्होने विधानसभा में प्रमुखता से पार्टी का रुख रखा और सरकार के फैसलों का विरोध किया। अग्निहोत्री ब्राह्मण नेता है।

विक्रमादित्य सिंह बोले- मैं दौड़ में नहीं
शिमला ग्रामीण क्षेत्र से कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा, ‘मैं शीर्ष पद की दौड़ में नहीं हूं, लेकिन मेरी मां मुख्यमंत्री पद की दावेदारों में से एक हैं।’ उन्होंने कहा, ‘सभी विजयी विधायकों की बैठक बुलाई गई है और अंतिम निर्णय आलाकमान की ओर से लिया जाएगा, जो सभी को स्वीकार्य होगा।’ कांग्रेस ने गुरुवार को Himachal Pradesh की 68 सदस्यीय विधानसभा में 40 सीट पर जीत दर्ज की थी। इसी के साथ पहाड़ी राज्य में वर्ष 1985 से किसी भी पार्टी की सरकार के दोबारा सत्ता में न आने की परंपरा बरकरार रही।

SMART TV: Flipkart दमदार ऑफर 1980 मे स्मार्ट टीवी घर लाए

Tulsi Gabbard: पूर्व कांग्रेस महिला तुलसी गबार्ड ने छोड़ी डेमोक्रेटिक पार्टी

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Author: ansu