Crude oil : जानिए किस देश से भारत सबसे ज्यादा खरीदता है , इराक , अमेरिका ,रूस या सऊदी अरब

Crude oil : जानिए किस देश से भारत सबसे ज्यादा खरीदता है , इराक , अमेरिका ,रूस या सऊदी अरब

0 0
Read Time:4 Minute, 44 Second

Crude Oil Import: जैसे ही हम क्रूड ऑयल का नाम लेते हैं तो हमारे जेहन में खाड़ी देशों का नाम आता है। आपको पता है कि हम किस देश से सबसे ज्यादा क्रूड ऑयल या कच्चा तेल खरीदते है

 

नई दिल्ली: यूक्रेन-रूस युद्ध (Ukraine Russia War) ने कई देशों की इकोनॉमी को प्रभावित किया है। इस युद्ध ने कई देशों के कारोबार को भी बदल दिया है। उनमें एक देश भारत भी शामिल है। तभी तो पश्चिम एशिया के देश इराक और सऊदी अरब जैसे देश अब हमारे लिए crude oil के सबसे बड़े सप्लायर (Crude Oil Supplier) नहीं रहे। अब स्थान रूस ने ले लिया है। रूस (Russia) बीते नवंबर महीने में भारत का सबसे बड़ा क्रूड ऑयल सप्लायर रहा है। यह लगातार दूसरा महीना है, जबकि रूस हमारे लिए क्रूड ऑयल का सबसे बड़ा सप्लायर बन कर उभरा है।

वॉर्टेक्सा के आंकड़ों से हुआ है खुलासा

एनर्जी कार्गो ट्रैकर फर्म वार्टेक्सा (Vortexa) ने यह खुलासा किया है। ऊर्जा कार्गो की खेप पर निगरानी रखने वाली कंपनी वॉर्टेक्सा के मुताबिक रूस ने भारत को crude oil की आपूर्ति के मामले में इराक और सऊदी अरब जैसे परंपरागत आपूर्तिकर्ताओं को पीछे छोड़ दिया है। यह ज्यादा पुरानी बात नहीं है। इसी साल 31 मार्च को समाप्त साल के दौरान भारत के सभी तेल आयात में रूस की हिस्सेदारी महज 0.2 प्रतिशत की थी। यह बीते नवंबर तक आते आते 20 फीसदी से ज्यादा हो गया। बीते महीने तो उसने भारत को हर रोज 9,09,403 बैरल (BPD) कच्चे तेल की सप्लाई की।

रुस के बाद इराक, सऊदी अरब और अमेरिका का स्थान

वॉर्टेक्सा के अनुसार, भारत को कच्चे तेल की सप्लाई करने में रूस के बाद इराक और सऊदी अरब का ही स्थान है। बीते नवंबर में इराक ने भारत को हर रोज 8,61,461 बैरल और सऊदी अरब से हर रोज 5,70,922 बैरल तेल भेजा है। इसके बाद अमेरिका का स्थान है। पिछले महीने अमेरिका ने हर रोज 4,05,525 बैरल कच्चा तेल भारत को निर्यात किया है। हालांकि, बीते नवंबर में रूस से भारत का आयात मात्रा के लिहाज से अक्टूबर से कम था। यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद पश्चिमी देशों ने उसपर कई तरह के प्रतिबंध लगाए हैं। उसके बाद से भारत लगातार रियायती दरों पर रूसी कच्चे तेल की खरीद कर रहा है।

यूक्रेन रूस युद्ध भड़कने के बाद रूस से बढ़ा आयात

वॉर्टेक्सा के आंकड़ों के अनुसार, भारत ने दिसंबर, 2021 में रूस से सिर्फ हर रोज सिर्फ 36,255 बैरल crude oil का आयात किया था। इस अवधि में इराक से 10.5 लाख बैरल प्रतिदिन और सऊदी अरब से 9,52,625 बैरल प्रतिदिन का आयात किया गया था। अगले दो महीनों में रूस से कोई आयात नहीं हुआ, लेकिन फरवरी के अंत में यूक्रेन युद्ध शुरू होने के तुरंत बाद मार्च से रूस से crude oil की खरीद फिर शुरू हो गई।

मार्च 2022 के दौरान भारत ने रूस से 68,600 बीपीडी कच्चे तेल का आयात किया। जबकि अगले महीने यह बढ़कर 2,66,617 बीपीडी हो गया और जून में 9,42,694 बीपीडी पर पहुंच गया। लेकिन जून में, इराक 10.4 लाख बैरल प्रतिदिन के साथ भारत का सबसे बड़ा crude oil आपूर्तिकर्ता था।

 

Himachal का नया राजा कोन ,3 नामों पर चर्चा, दिल्ली दरबार करेगा फेसला

Raju Theth:मारा गया गैंगस्टर राजू ठेठ,पूरे राजस्थान मे नाकाबंदी कर आरोपियों की तलाश जारी

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Author: ansu